ASIA CUP 2016 : जब 8 पर हो गए थे तीन फिर पाकिस्तान के खिलाफ विराट ने किया था चमत्कार

0
592

बड़े खिलाड़ी की पहचान एक बड़े मुकाबले में ही होती है जब बड़े दिन पर टीम दबाव में हो तब वह खिलाड़ी वहां अपनी काबिलियत के बूते टीम को मुश्किलों से बाहर निकालने में सफल होता है और इसी लिए लोग उस knock को सालो साल याद रखते हैं…

आज से 6 साल पहले एशिया कप के दौरान भारत और पाकिस्तान की भिड़ंत में केवल 83 रनों पर ढ़ेर होने के बाद पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर की जब कहर barpti गेंदों के आगे भारतीय टीम का टॉप ऑर्डर महज 8 रनों पर ही ध्वस्त हो गया था और पाकिस्तान के लिए अचानक वहाँ उम्मीद की किरण दिखने लगी थी तब टीम इंडिया के सबसे बड़े बल्लेबाज विराट कोहली का जलवा पूरी दुनिया ने देखा था… जहां एक taraf दूसरे खिलाड़ी aamir को खेलने में असहज दिख रहे थे विराट अकेले ऐसे थे जिन्होंने पाकिस्तान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के खिलाफ चौका लगाकर अपना खाता भी खोला और इसके बाद एक मैच विनिंग पारी खेलकर भारत को जीत की दहलीज पर पहुंचाकर ही वापस लौटे.

2016 के साल भारत में T20 वर्ल्ड कप होना था लेकिन उससे पहले टीम इंडिया बांग्लादेश में एशिया कप खेलने पहुंची, जहां 27 फरवरी को भारतीय टीम का सामना चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से था और दोनों टीमों के बीच में महा मुकाबला ढाका के शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम में खेला गया.. जहां भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने तब टॉस जीतकर रात के मुकाबले में ओस को ध्यान में रखते हुए पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था.. और एम एस का यह फैसला बिल्कुल सही साबित होता हुआ najar आया..

India's Virat Kohliplays a shot as Pakistan's Sarfaraz Ahmed looks on during the World T20 cricket tournament match between India and Pakistan at the...

जहां पहले ही ओवर में आशीष नेहरा ने पाकिस्तान के अनुभवी ओपनिंग बल्लेबाज मोहम्मद हफीज को केवल 4 रनों पर ही पवेलियन का रास्ता दिखा दिया और भारत को मैच में काफी जल्दी पहली कामयाबी दिला दी.. हालांकि दूसरे ओपनर सरजील खान और खुर्रम मंजूर ने थोड़ी देर विकेट पर टिकने की कोशिश की लेकिन चौथे over में उस समय पर नए नए आए bumrah ने सरजील को महज 7 के निजी स्कोर पर बाहर भेजकर टीम को दूसरी सफलता दिला दी.. और इससे पहले पाकिस्तानी in झटकों से संभल पाता पावर प्ले के आखिरी ओवर में विराट कोहली के एक सटीक थ्रो ने मंजूर की बड़ी पारी खेलने की ummeed को नामंजूर किया और 10 रन पर वह भी रन आउट होकर पवेलियन लौट गए..

एक के बाद एक विकेट गिरने का सिलसिला जारी था मंजूर के बाद veteran शोएब मलिक भी मात्र 4 रनों का मामूली सा योगदान देकर तब युवा ऑल राउंडर हार्दिक पंड्या के शिकार बन गए.. वही अगले over में युवराज सिंह ने umar akmal का बोरिया बिस्तर बाँध दिया.. जिसके चलते केवल 35 रनों पर ही आधी पाकिस्तान की टीम पवेलियन पहुंच गई..

सोने पर सुहागा तो तब हुआ जब आठवें ओवर की आखिरी गेंद पर शाहिद अफरीदी को jadeja जैसे शानदार fielder के थ्रो पर रिस्क लेने का फैसला का हर्जाना भरना पड़ा और 42 के score पर पाकिस्तान के kaptan भी चलते बने.. इसके बाद तो जैसे समय की मांग रह गई.. Ek शानदार run out करने के बाद jaddu ने अपने अगले दो ओवरों में वहाब और सरफराज दोनों को बाहर का रास्ता दिखाया और फिर अंत में हार्दिक ने मोहम्मद shami और मोहम्मद आमिर को आउट कर पाकिस्तान की पूरी पारी केवल 17.3 ओवरों में 83 रनों पर ही ढेर कर दी… भारत के लिए उस मुकाबले में हार्दिक पांड्या ने सर्वाधिक तीन और जडेजा ने 2 विकेट झटके जबकि नेहरा बुमराह और युवराज के खाते में भी एक-एक सफलता दर्ज हुई…

अब दोस्तों वैसे तो 84 रनों का लक्ष्य भारत की बल्लेबाजी को देखते हुए मामूली नजर आ रहा था लेकिन पाकिस्तान के खूंखार तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर के इरादे तो कुछ और ही थे.. लंबे समय तक बैन झेलने के बाद वापसी कर रहे आमिर ने पहली गेंद से यह बता दिया था की उनके अंदर अब भी काफी क्रिकेट बाकी है.. आमिर की पहले ओवर की पहली गेंद रोहित के पैड पर जा लगी लेकिन umpire ने तब out nhi दिया.. पर अगली गेंद पर आमिर की एक और खतरनाक in swing गेंद आई और इस बार रोहित अपना पैर बचा नहीं सके और बिल्कुल stumps के सामने पाए गए..

रोहित शर्मा खाता खोले बिना आउट हुए और कुछ उसी तरह का एक्शन रिप्ले अजिंक्य रहाणे के साथ भी देखने को मिला.. जो हूबहू रोहित की ही तरह मोहम्मद आमिर के अंदर आती गेंद को समझने में फेल हुए और lbw होकर बिना रन बनाए पवेलियन की राह चल दिए.. आमिर के खतरे को टालने के लिए मैनेजमेंट ने बाएं हाथ के सुरेश रैना को चौथे नंबर पर प्रमोट किया लेकन भारतीय टीम का यह फैसला भी आमिर ने विफल कर दिया और रैना को भी मात्र एक के निजी स्कोर पर बाहर का रास्ता दिखा कर भारतीय टीम की कमर सी तोड़ कर रख दी..

जो 84 का लक्ष्य बिल्कुल भारत की मुट्ठी में नजर आ रहा था एकदम से 8 रनों पर 3 विकेट गंवाकर टीम इंडिया मुश्किलों में नजर आने लगी थी लेकिन यहीं पर विराट कोहली ने बताया कि क्यों उन्हें वासियों से अलग लीग में रखा जाता है जिस आमिर की गेंदबाजी को खेलने में दूसरे बल्लेबाज फेल हो रहे थे विराट ने उन्हें काफी बेहतर तरीके से खेल कर निकाला और जरूरत पड़ने पर उनके पीछे भी गए और बाउंड्रीज भी जड़ी..

एकदम से दो तीन चौके आने के बाद मोमेंटम भारत की तरफ मुड़ गया और यहां से पाकिस्तान मुकाबले में सिर्फ पीछे ही najar आया.. दूसरे एंड पर युवराज ने भी कोहली का अच्छा साथ निभाया और दोनों ने मिलकर चौथे विकेट के लिए 68 रनों की मैच विनिंग साझेदारी कर कर मुकाबला भारत की झोली में डाल दी.. हालांकि किंग कोहली काफी बेह्तरीन टच में दिख रहे थे लेकिन अपने अर्धशतक के बिल्कुल करीब पहुंचकर विराट ने अपना विकेट गंवा दिया..

15वें ओवर में मोहम्मद शमी ने पहली गेंद पर ही विराट को एलबीडब्ल्यू आउट कर भारत को चौथा झटका जरूर दिया लेकिन तबतक विराट ने 51 गेंदों में सात चौकों की मदद से 49 रनों की मैच विनिंग पारी खेलकर मुकाबला एकतरफा कर दिया था.. Virat के बाद shami ने ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को शून्य पर आउट किया लेकिन युवराज और धोनी की जोड़ी ने हर बार की तरह एक बार फिर अंत में जाकर भारत के लिए मुकाबले को खत्म किया और टीम इंडिया ने केवल 15.3 ओवर में 5 विकेट खोकर 84 का लक्ष्य हासिल कर लिया..

जहां yuvi ने 14 रन की नाबाद पारी खेली वहीं धोनी भी 7 रन बनाकर अंत तक बने रहे और इस तरह भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से बड़ी हार थमाकर अपने एशिया कप के कैंपेन की शानदार शुरुआत की… Aur फिर भारत ने बाद में जाकर इस खिताब को अपने नाम करने में भी कामयाबी हासिल की…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here