IND VS NZ 2ND T20I : इस खिलाड़ी बाहर फेंक हार्दिक देंगे टैक्सी ड्राइवर के बेटे को मौका,दूसरे मैच में खेलेंगे मुकेश कुमार!

0
1291

रांची में खेले गए पहले T20 मैच को न्यूजीलैंड ने 21 रनों के अंतर से जीता और सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल की जिसके चलते तीन मैच की T20 सीरीज में टीम इंडिया फिलहाल बैकफुट पर नजर आ रही है.. सीरीज में बने रहने के लिए भारत को दूसरे मुकाबले में हर हाल में जीत हासिल करनी होगी पांड्या की पलटन के लिए यहां से दोनों ही मुकाबलों में करो या मरो की स्थिति बन चुकी है.. ऐसे में नवाबों के शहर लखनऊ में न्यूजीलैंड से मुकाबला करने से पहले भारत को अपनी सबसे बड़ी कमी को दूर करने की चुनौती होगी.

रांची के पहले टी-20 में भारतीय टीम की तेज गेंदबाजी बुरी तरह फेल हुई थी जहां 2022 में टीम इंडिया की सबसे बड़े फाइंड रहे अर्शदीप सिंह के आखिरी ओवर में लुटाए गए 27 रनों ने ही कहीं ना कहीं हार और जीत में बड़ा अंतर पैदा किया.. ऊपर से मैच दर मैच अर्शदीप सिंह अपनी गलतियों से सीख नहीं पा रहे हैं, और उनका no बॉल के साथ प्यार टीम की लूटीया डूबोने का काम कर रही है, भारत के स्ट्राइक गेंदबाज और डेथ ओवर स्पेशलिस्ट ने पिछले मैच में 4 ओवरों में 51 रन लुटाए, तो वही कप्तान हार्दिक पांड्या ने खुद 3 ओवरों में 33 रन खर्चे जबकि तार के सौदागर उमरान मलिक ने 1 ओवर में 16 रन ही खा लिए.

In सबमें shivam Mavi ने थोड़ी कंजूसी बरती जरूर लेकिन उन्हें भी 2 ओवरों में 19 रन पड़ गए, कुल मिलाकर भारतीय तेज गेंदबाजी ने 10 ओवरों में लगभग 12 के रन रेट से 119 रन लुटा दिए वही दूसरी तरफ स्पिनरों ने अपना काम बखूबी निभाया, जहाँ कुलदीप सुंदर और दीपक hooda की तिकड़ी ने मिलकर 10 ओवर में केवल साढ़े 5 की औसत से 56 रन दिए और इस दौरान 3 कीवी बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता भी दिखाया,.इससे साफ प्रतीत होता है कि फ्लैट विकेट पर भारत की तेज गेंदबाजी भी फ्लैट हो जाती है,, और एक युवा तेज गेंदबाजी यूनिट के पास फिर इसका कोई जवाब नहीं होता है.. ऐसे में अगर पंड्या एंड कंपनी को ब्लैककैप्स के खिलाफ सीरीज में बने रहना है और इसे decider में लेकर जाना है तो सबसे पहले अपने तेज गेंदबाजी के पहलू पर गौर करने की आवश्यकता होगी.

हालाँकि अभी टीम इंडिया के मौजूदा स्क्वाड में तेज गेंदबाज का ज्यादा विकल्प भी नहीं है, एक मुकेश कुमार का नाम बेंच पर बैठा है जिसे अभी भी अपने डेब्यू का इंतजार है, हालांकि मुकेश के पास भी ज्यादा बड़े level पर t20 खेलने का अनुभव नहीं है,, अभी तक मुकेश ने केवल syed मुश्ताक अली t-20 ट्रॉफी में ही घरेलु t20 के मुकाबले खेले हैं,, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या सीरीज के इस पड़ाव पर टीम management ये बड़ा रिस्क लेने पर विचार करेगी.. अगर मुकेश को लखनऊ में डेब्यू का मौका मिलता है तो फ़िलहाल आउट ऑफ फॉर्म चल रहे Arshdeep Singh के ऊपर ही गाज गिर सकती है. और फिर shivam Mavi, मुकेश कुमार और umran मलिक की तिकड़ी पेस battery का जिम्मा संभालते najar आ सकती है… हालांकि अभी इसके होने के आसार मुश्किल najar आते हैं क्यूंकि फिलहाल मौजूदा प्लेइंग इलेवन में अर्शदीप सिंह एकमात्र ऐसा नाम है जिसके पास इन सब में से सबसे ज्यादा टी20 मुकाबले खेलने का अनुभव प्राप्त है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here