Video : सांस रोक देने वाले मुकाबले में अक्षर ने आखरी ओवर में छक्का लगाकर भारत को दिलाई जीत

0
1846

जब ऐसा लग रहा था कि भारत हार जाएगा और वेस्टइंडीज भारत को धूल चटाने के लिए पूरी तरीके से तैयार थी तब वेस्टइंडीज की जीत और भारत की हार में एक खिलाड़ी आकर खड़ा हो गया और वह से अक्षर पटेल जी हां कैसे एक हारी हुई बाजी को पलटते हुए इस खिलाड़ी ने तूफानी बल्लेबाजी करके ना सिर्फ एक विध्वंसक पारी खेली बल्कि उनकी बल्लेबाजी से क्या कुछ हुआ वह सब जानिए हमारी इस रिपोर्ट में.

भारतीय टीम एक वक्त 205 रनों पर पांच विकेट गंवा चुकी थी और 311 रनों का स्कोर विशाल लगने लगा था क्योंकि भारत के पास आगे बेहद का बल्लेबाजी बची थी और अक्सर पटेल की बल्लेबाजी पर किसी को कुछ खास भरोसा नहीं था ऐसे में सब ने यह मान लिया था कि अब भारत शायद यह मुकाबला गवा भी दे लेकिन अक्षर पटेल ने इस मुकाबले में वह कर दिया जैसा किसी ने सोचा भी नहीं था जब दीपक हुड्डा के साथ अक्सर पटेल बल्लेबाजी कर रहे थे तब सभी ने यह सोचा कि भारतीय टीम के हीरो दीपक हुड्डा होंगे लेकिन नहीं यहां पर आप गलत है दीपक हुड्डा ने 36 गेंदों में 33 रन बनाकर एक महत्वपूर्ण योगदान जरूर दिया लेकिन छठे विकेट के तौर पर वह भी आउट हो गए.

हुड्डा के आउट होने के बाद टीम इंडिया की जीत की उम्मीदें अब धुंधली नजर आने लगी थी क्योंकि भारत के पास शार्दुल ठाकुर के रूप में बस एक ही बल्लेबाज बचा था दीपक हुड्डा के जाने के बाद अक्षर पटेल ने एक बार फिर से जिम्मेदारी संभाली बता दे कि एक तरफ से सभी बल्लेबाज आते रहे और जाकर रहे और दूसरी तरफ अक्षर पटेल ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करनी शुरू कर दी थी वेस्टइंडीज चाहे कोई भी गेंदबाज हो अक्षर पटेल ने सबको बाउंड्री की राह दिखाई दीपक हुड्डा के आउट होने के बाद ठाकुर ने महज 3 रन बनाए थे लेकिन दूसरी तरफ अक्षर पटेल ने विस्फोटक बल्लेबाजी करके ठाकुर के साथ 24 रनों की साझेदारी कर डाली जिसमें 21 पटेल के थे.

अब यहां से मुकाबला रोमांचक हो गया था 47ve ओवर में गेंदबाजी करने आए रोमारियो शेफर्ड की लगातार दो गेंदों पर दो चौके लगाते हुए अक्षर पटेल ने महज 27 गेंदों में ही अपने एकदिवसीय करियर का पहला अर्धशतक लगा दिया अब तक उन्होंने अपनी पारी में तीन चौके और 4 छक्के लगा दिए थे भारतीय टीम को आखिरी 12 गेंदों में 15 रनों की दरकार थी फिर अक्षर का साथ निभा रहे आवेश खान ने भी अपने हाथ खोले उन्होंने Jayden seales की गेंद पर चौका लगाकर भारतीय टीम की जीत के फासले कम कर दिए लेकिन इसके बाद इसी ओवर में आवेश खान आउट हो गए और भारतीय प्रशंसकों की धड़कन तेज हो गई क्योंकि आखिरी गेंद में टीम को जीत के लिए 8 रनों की दरकार थी.

आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने आए काइल मेयर और उनकी पहली गेंद पर कोई रन नहीं बन पाया इसके बाद अगली गेंद पर अक्सर सिंगल ले लेते हैं फिर जब सिराज में उन्हें वापस स्ट्राइक पर लाया तब भारत को जीत के लिए 6 रनों की दरकार से और अक्सर ने वह किया जिसके लिए सभी भारतीय प्रशंसक बेताब है जी हां छक्का लगाकर आखिरकार अक्षर पटेल ने टीम इंडिया को असंभव लग रही जीत दिला दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here