ASIA CUP FINAL : दीप्ती ने दिलाई इंग्लैण्ड की याद लंका के खिलाफ भी की मानकडिंग की कोशिश,INDW बनी एशिया चैम्पियन,मंधाना ने छक्का लगाकर दिलाई जीत

0
1946

चौथे ओवर में ही भारतीय टीम ने किया एशिया कप के खिताब पर किया कब्जा । रेणुका सिंह साबित हुई भारतीय टीम की जीत की सबसे बड़ी हीरो दीप्ती शर्मा ने फिर किया मांकड का प्रयास.आखिर कैसे पारी के 1 ओवर ने भारतीय टीम को बनाया विजेता जानने के लिए देखिए हमारी रिपोर्ट…

भारत और श्रीलंका के बीच एशिया कप का फाइनल मुकाबला खेला गया। जहां भारतीय गेंदबाज पहली पारी में कहर बनकर टूट पड़े और श्रीलंकाई टीम महज 65 रनों पर ऑल आउट हो गई। इसमें सबसे बेहतरीन गेंदबाजी रेणुका सिंह ने की है । उनके एक ओवर ने ही इस रोमांचक फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम की झोली में डाल दिया ।पारी का चौथा ओवर इस मैच का गेम चेंजिंग ओवर साबित हुआ । जिसमें यह मुकाबला पूरी तरह से भारतीय टीम के पक्ष में आ गया । गेंदबाजी करने आई रेणुका सिंह ने ऐसी घातक गेंदबाजी की कि उसके आगे कोई भी बल्लेबाज टिक नहीं पाया ।उन्होंने लगातार तीन गेंदों पर तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर इतिहास रच दिया ।

दरअसल पारी के सातवें ओवर में पिछले कुछ समय से विवादों से घिरी हुई दीप्ती ने एक बार फिर माकड करने का प्रयास किया जी हां जब दीप्ति गेंद बाजी कर रही थी तब एक बार फिर बल्लेबाज ने क्रीज से बाहर निकलने का प्रयास किया लेकिन दीप्ति ने बीच में ही अपनी गेंदबाजी रोक कर इस बार बल्लेबाज को महज वार्निंग देकर छोड़ दिया लेकिन बल्लेबाज का तो चेहरा देखने लायक था।

हालांकि उनकी हैट्रिक नहीं हो पाई क्योंकि इसमें एक रन आउट शामिल था । लेकिन 8 रन पर 0 विकेट वाली लकाई टीम के 9 रन पर 4 सबसे बड़े बल्लेबाज पवेलियन लौट गए थे । उन्होंने लगातार तीन गेदो पर Madavi , Anushka sanjeevni और Hasini Perera को अपना शिकार बनाया ।भारतीय टीम के लिए रेणुका सिंह ने सबसे अधिक 3 विकेट हासिल किए है ।इसके अलावा उन्होंने 1 रन आउट भी किया था । राजेश्वरी गायकवाड और स्नेह राणा ने भी दो-दो विकेट अपने नाम करउनका बखूबी साथ निभाया । स्मृति मंधाना ने नाबाद पारी खेलकर भारत को इस फाइनल मुकाबले में जीत दिलाई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here